Aharbinger's Weblog

Just another WordPress.com weblog

Archive for the ‘सरिता १९९२ में प्रकाशित’ Category

आस का दीया [दीवाली की शुभ कामनाएं]

Posted by Isht Deo Sankrityaayan on October 15, 2009

सूनी
हर गली पर
एक आस का दीया,
नयनों की
एक झलक से
तुम ने जला दिया ।

मन की यह
अमावस
उजाली हो गई,
परम उज्जवल
पर्व सी
दीवाली हो गई ।

सूखे
इस ठूंठ को
आतिश बना दिया ।
० राकेश ‘सोहम’

Advertisements

Posted in सरिता १९९२ में प्रकाशित | 2 Comments »