Aharbinger's Weblog

Just another WordPress.com weblog

Archive for the ‘होली कविता [ चित्र सौजन्य गूगल सर्च ]’ Category

फाल्गुन आया रे !

Posted by Isht Deo Sankrityaayan on February 19, 2010

गोरी को बहकाने
फाल्गुन आया रे ।
रंगों के गुब्बारे
फूट रहे तन आँगन,
हाथ रचे मेंहदी के
याद आते साजन ॥
प्रेम-रस बरसाने
फाल्गुन आया रे ।
यौवन की पिचकारी
चंचल सा मन,
नयनों से रंग कलश
छलकाता तन ॥
तन-मन को भरमाने
फाल्गुन आया रे ।
[] राकेश ‘सोहम’

Posted in होली कविता [ चित्र सौजन्य गूगल सर्च ] | 8 Comments »