Aharbinger's Weblog

Just another WordPress.com weblog

Archive for the ‘man’ Category

क्योंकि थोड़ा सा मैं भी जीना चाहती हूं

Posted by Isht Deo Sankrityaayan on May 30, 2009

(माइक्रो-स्टोरी)
“तू है कौन?”
“जिंदगी”
“तो यहां क्या कर रही है।?“
“तुम्हारे साथ हूं?”
“क्यों?”
“क्योंकि थोड़ा सा मैं भी जीना चाहती हूं।”

Posted in life, man, micro-story | 12 Comments »